कुंभ में खूब बह रही सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सरिता

20 लघु मंचों और चार मुख्य मंचों पर खूब हो रहे आयोजन

प्रयागराज। कुंभ में स्नान करने आए श्रद्धालु सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सरिता में भी खूब गोता लगा रहे हैं। प्रदेश के संस्कृति विभाग ने अपने अनूठे प्रयोग के तहत मंचों का निर्माण कर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया है जिसमें कला-संगीत की विभिन्न विधाओं की प्रस्तुतियां लोगों का दिल जीत ले रही हैं। विशिष्ट स्थलों पर निर्मित 20 लघु मंचों और चार मुख्य मंचों पर शुक्रवार को पूर्वाह्न से आरंभ हुईं  विभिन्न मनोहारी प्रस्तुतियों ने लोगों को खूब प्रभावित किया।

गौरतलब है कि विभाग ने कुंभ मेला 2019 के अन्तर्गत प्रयागराज शहर में 20 विशिष्ट स्थलों पर मंचों का निर्माण कर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया है। ये मंच लोक सेवा आयोग चौराहा, ट्रैफिक चौराहा, दरभंगा चौराहा, यमुनापुल के नीचे गऊघाट, मेडिकल चौराहे के निकट, प्रयाग जंक्शन चौराहा, के.पी.इंटर कालेज के निकट, किला चौराहा, अक्षयवट एवं लेटे हुए हनुमान मंदिर के सामने, यूनिवर्सिटी चौराहा, बालसन चौराहा, कीडगंज नैनी ब्रिज इनफारमेशन सेंटर, लैप्रोसी मिशन चौराहा, झूसी के निकट, अरैल के निकट, वल्लभाचार्य मोड़, बहुगुणा चौराहा, चर्च के निकट बिशप जानसन कालेज, प्रयाग बस स्टैंड के सामने हिन्दू महिला डिग्री कालेज तथा एपी कालेज निकट काली मंदिर में बनाए गए हैं। शुक्रवार को यहां विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

शुक्रवार को पूर्वाह्न विशिष्ट स्थलों पर बने मंचों पर कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां आरंभ हुईं। इन मंचों पर यज्ञनारायण पटेल एवं साथियों (इलाहाबाद) ने लोकगायन, नेहा (मथुरा) ने ब्रज लोकनृत्य, प्रदीप कुमार (झांसी) ने राई और सैरा लोकनृत्य, रीतेश गुप्त (लखनऊ) ने कठपुतली, सुधा देवी (ललितपुर) ने राई और सैरा लोकनृत्य, वंदना सिसोदिया (मथुरा) ने लोकनृत्य, सत्येन्द्र शुक्ल (लखनऊ) ने नाटक, आफताब हुसैन (लखनऊ) ने जादू, दीपचंद्र प्रजापति (प्रयागराज) ने नौटंकी, सीमा पटेल (वाराणसी) ने लोकगायन, रामज्ञान यादव (गोरखपुर) ने फरवाही नृत्य, सुरेश कुमार (लखनऊ) ने जादू, कुसुम कार्की (लखनऊ) ने लोकनृत्य, सोनू नाथ (लखनऊ) ने लिल्ली घोड़ी कार्यक्रमों की प्रस्तुतियों से दर्शकों को मुग्ध कर दिया।

All rights reserved Digital Marketing by ETL Labs.